Black Fungus पर निबंध – ब्लैक फंगस के बारे में पूरी जानकारी 2021

दोस्तो (Black Fungus पर निबंध – ब्लैक फंगस के बारे में पूरी) जानकारी पोस्ट को पढ़ने से पहले आपने Whatsapp, Facebook समाचार पत्रों , टेलीविजन पर ब्लैक फंगस बीमारी के बारे में अवश्यक पढ़ा होगा या सुना होगा।

Black Fungus पर निबंध - ब्लैक फंगस के बारे में पूरी जानकारी
Black Fungus पर निबंध

कोरोना वायरस के साथ-साथ अब एक और नई बीमारी सामने आ रही है। इस बीमारी का नाम “ब्लैक फंगस” है। इस बीमारी के भारत मे सेकड़ो मामले सामने आ चुके है। ब्लैक फंगस बीमारी को Mucormycosis भी कहाँ जाता है।

ब्लैक फंगस क्या है

ज्यादातर सभी लोग फंगस के बारे में जानते होंगे चलिये आसान भाषा मे समझते हैं। फंगस को हम बोलचाल की भाषा मे “फफूंदी” कहते हैं। जब कोई ब्रेड या रोटी बहुत दिनों की हो जाती है। तो उस पर फफूंदी आ जाती है। इस फफूंदी को ही “फंगस” कहते हैं। फंगस कई प्रकार के होते है।

Note  – रोटी या ब्रेड पर लगा फंगस ब्लैक फंगस नही है।

ब्लैक फंगस का Color White होता है. इसे हम ब्लैक फंगस इसलिए कहते हैं। क्योंकि यह फंगस जब हमारे शरीर को इफेक्ट करता है। तो यह हमारे शरीर के टिशू को नष्ट कर देता  है। जिससे  वह जगह काली पड़ जाती है। इसलिए इस फंगस को ब्लैक फंगस कहते है

मेडिकल भाषा में ब्लैक फंगस को “मुकोर्मिकोसिस” कहते हैं। यह बीमारी “म्युकर्माईसीट्स” नामक फंगस के एक समूह के कारण होने वाला एक गंभीर फंगल इंफेक्शन है।

ब्लैक फंगस कैसे फैलता है

“म्युकर्माईसीट्स” हर जगह फैले हुए होते हैं जैसे – मिट्टी , हवा और गिरे हुए पत्तों और सडे फल व सब्जियों में सबसे अधिक “मुकोर्मिकोसिस” सांस लेते समय नाक के जरिए शरीर में जाते हैं इसलिए मास्क पहनना बहुत ही जरूरी है यह शरीर में जाने वाले कीटाणुओं को जाने से रोकता है।

क्या ब्लैक फंगस संक्रामक बीमारी है

ब्लैक फंगस एक संक्रामक बीमारी नहीं है यदि आप किसी संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आते है तो यह बीमारी आपको नहीं होगी।

ब्लैक फंगस होने का सबसे अधिक खतरा किसे है

ब्लैक फंगस होने का सबसे महत्वपूर्ण कारण है कमजोर इम्यूनिटी सिस्टम और इसके कई कारण हो सकते हैं । जैसे – डायबिटीज के मरीज , स्टेरॉयड का दुरुपयोग ,इम्युनोसप्रेसेंट दवाएं लेना।

95% लोग जो ब्लैक फंगस से पीड़ित हैं। वो लोग या तो डायबिटीज के मरीज है। या उन्होंने स्टेरॉयड का  दुरुपयोग किया है।

यदि आप डायबिटीज के मरीज हैं और आपको कोरोना हुआ था और कोरोना के इलाज में आपने बहुत ज्यादा मात्रा में स्टेरॉयड का उपयोग किया है तो आपको ब्लैक फंगस का इंफेक्शन हो सकता है।

भारत में अब ब्लैक फंगस का इतना प्रकोप क्यों दिख रहा है

भारत में ब्लैक फंगस फैलने के कई कारण सामने आ रहे हैं। भारत में डायबिटीज के मरीज काफी अधिक संख्या में हैं, इसके साथ ही कोविड-19 रोगियों के स्टेरॉयड के व्यापक दुरुपयोग, और  ग्लूकोज  के लेवल को नियंत्रण में ना रखने की वजह से ब्लैक फंगस का प्रकोप इतना बढ़ रहा है।

ब्लैक फंगस के लिए क्या डायबिटीज और स्टेरॉयड का दुरुपयोग ही एकमात्र कारण है

ब्लैक फंगस के लिए डायबिटीज और स्टेरॉइड के अलावा और भी कई कारण है लेकिन इनके बारे में अभी सही जानकारी उपलब्ध नहीं है।
जैसे – इंडस्ट्रियल ग्रेड ऑक्सीजन , Purifier  नल का पानी , दोबारा इस्तेमाल किए गए मास्क , एंटीबायोटिक दवाओं का ज्यादा इस्तेमाल

ब्लैक फंगस होने की संभावना को कम करने के लिए हम क्या कर सकते हैं

यदि आपको डायबिटीज है तो सुनिश्चित करें कि आपका ब्लड ग्लूकोज लेवल कंट्रोल में रहे।

ब्लैक फंगस बीमारी होने के लिए अनियंत्रित डायबिटीज सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक मानी जाती है।

स्टेरॉयड का उपयोग कम से कम करें और डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। इसका सेवन आपको नुकसान पहुंचाता है यह आपकी इम्यूनिटी को कम कर देता है और स्टेरॉइड आपके ब्लड ग्लूकोस लेवल को बढ़ा देता है।

ब्लैक फंगस बीमारी के लक्षण

ब्लैक फंगस के लक्षणों में कुछ लक्षण व्यक्ति के शरीर में दिखाई देने लगते हैं

  • चेहरे के एक तरफ सूजन का आना
  • नाक भरी हुई महसूस होना
  • सिर दर्द , लाल आंखें , नाक व तालु का काला पड़ना
  • नाक से सास नही ले पाना
  • दांतो में दर्द,
  • नाक से खून निकलना
  • बुखार का आना

यह कुछ ब्लैक फंगस बीमारी के लक्षण है जो आमतौर पर व्यक्ति में दिखाई देने लगते हैं।

ब्लैक फंगस बीमारी के लक्षण दिखने पर आपको क्या करना चाहिए-Black Fungus पर निबंध

यदि आपको ऐसा लगता है कि आप ब्लैक फंगस बीमारी से ग्रसित हैं तो आपको तत्काल हॉस्पिटल में भर्ती होना चाहिए और उपचार शुरू कर देना चाहिए अगर आपका इलाज जल्दी शुरू हो जाए तो आप इस बीमारी से बहुत जल्दी ठीक हो सकते हैं। ब्लैक फंगस के कुछ रोगियों को सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है। ब्लैक फंगस बीमारी के 50% लोग ही जीवित रह पाते है।

ब्लैक फंगस होने से कैसे बचा जा सकता है।

यदि आपको ब्लैक फंगस बीमारी से बचना है तो आपको कोविड-19 के सारे प्रोटोकॉल का ध्यान रखना चाहिए जैसे मुंह पर मास्क का लगना,
साबुन से बार-बार हाथों का धोना,
2 गज की दूरी का पालन करना,
और कोविड-19 की वैक्सीन को जल्दी से जल्दी लगवाएं

ब्लैक फंगस बीमारी के घरेलू उपाय

  • फिटकरी के पानी से कुल्ला करें।
  • आप जब भी पानी पिये दाल चीनी का उबला हुआ पानी पीजिए।
  • घर पर बने हुए पेस्ट का उपयोग करे। जिसमे 4 बूद सरसो का तेल ,काला नमक , हल्दी का उपयोग करे।
  • मूली में काला नमक, हल्दी , नीबू मिलाकर चबाए और थूक दे।
  • नाक में सरसों का तेल लगाइये

आज आपने क्या सीखा

दोस्तों आज हमने Black Fungus पर निबंध के बारे में विस्तार से पढ़ें इस पोस्ट में हमने सभी महत्वपूर्ण बातों को जाना है मैं आशा करता हूं कि आपको यह जानकारी पढ़कर बहुत अच्छा लगा होगा और आप सभी लोगों को पसंद भी आया होगा।

यदि आपको ब्लैक फंगस पर निबंध पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों व्हाट्सएप फेसबुक टेलीग्राम जैसे सोशल मीडिया नेटवर्क पर इस आर्टिकल को शेयर करें ताकि उन्हें भी ब्लैक फंगस पर सही जानकारी मिल सके तो मिलते हैं हम हमारी अगले आर्टिकल में तब तक के लिए “जय हिंद जय भारत”

FAQ

1 भारत के किस राज्य ने ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया है ?

Ans – भारत के राजस्थान की राज्य सरकार ने ब्लैक फंगस को महामारी घोषित कर दिया है।

2 ब्लैक फंगस की दवाई भारत में मौजूद है ?

Ans – जी नहीं ब्लैक फंगल इन्फेक्शन की दवाई अभी भारत में मौजूद नहीं है यदि आपको कोविड-19 से ग्रसित हैं तो इसके लिए आपको कोविशील्ड और कोवैक्सीन जैसी वैक्सीन लगवानी चाहिए।

3 क्या ब्लैक फंगस एक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति से छूने पर फैलता है ?

Ans – जी नहीं डॉक्टरों का मानना है कि ब्लैक फंगस का इन्फेक्शन एक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति से छूने पर नहीं फैलता है।

4 ब्लैक फंगस किसे नहीं होगा ?

Ans – जिस व्यक्ति का इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत है उसे ब्लैक फंगस नाम का यह इन्फेक्शन नहीं होगा।

5 ब्लैक फंगस किस कलर का होता है ?

Ans – ब्लैक फंगस सफेद (White) कलर का होता है।

6 ब्लैक फंगस बीमारी का खतरा सबसे ज्यादा किससे है ?

Ans – जो व्यक्ति कोरोना से ग्रसित है या फिर जिस व्यक्ति की इम्यूनिटी कमजोर है उसे ब्लैक फंगस हो सकता है।

क्या आपने ये आर्टिकल पढ़े-

 कोरोना वायरस पर निबंध हिन्दी मे

पढ़ाई में मन कैसे लगाएं | पढ़ाई में मन लगाने के लिये कुछ टिप्स | पढ़ते समय फोकस कैसे करे।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध | Beti Bachao Beti Padhao Essay in hindi 2021

विश्व पर्यावरण दिवस पर निबंध | World Environment Day Essay In Hindi 2021

आतंकवाद पर निबंध  Essay On Terrorism In Hindi 

 

 

 

 

Spread the love

Leave a Comment