Child Devlopment And Pedagogy Part -2 In Hindi Reet & Uptet , Mptet

Child Devlopment And Pedagogy Part -2 In Hindi Reet & Uptet , Mptet 

Child Devlopment And Pedagogy Part -2 In Hindi Reet & Uptet , Mptet

मेरे सभी प्यारे भाई बहनों को मेरा प्यार भरा राम-राम कैसे हैं आप सब उम्मीद है आपकी पढ़ाई अच्छी चल रही होगी। मेरे प्रिय भाई बहनों आज मैं आपके लिए Child Devlopment And Pedagogy Part -2 In Hindi Reet , Uptet , Mptet के महत्वपूर्ण One Liner Questions लाया हूं। जो परीक्षा की दृष्टि सेे बहुत ही महत्वपूर्ण है। इन प्रश्नों को पढ़कर आप अपनी तैयारी को और अच्छी कर सकते हैं। 


जैसा कि सभी छात्रों को पता है, की TET Exam में Child Devlopment And Pedagogy बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है। इस Topic से TET Exam में 30 प्रश्न पूछे जाते हैं। जो 30 अंको के होते है। जिसमे 10-15 नम्बर की Pedagogy पूछी जाती है। हम प्रतिदिन इस Topic से आपके लिये प्रश्न लायेंगे। जिन्हें पढ़कर आप भारत मे होने वाली किसी भी TET Exam को Qualified कर जायेगे ऐसा हमे पूरा विश्वास है। 


 Child Devlopment And Pedagogy Part -2 In Hindi Reet & Uptet , Mptet  


• भारतीय समाज की बहू भाषिक विशेषता को देखा जाना चाहिए – शिक्षार्थियों के लिए विद्यालय जीवन को एक जटिल अनुभव के रूप में बनाने के एक कारक के रूप में
• बुनियादी स्तर पर मातृभाषा में शिक्षण देना बेहतर है क्योंकि यह – प्राकृतिक वातावरण में बच्चों को सीखने में सहायता करेगा
• हिंदी के अक्षरों को बालक किस उम्र में पहचानने लगते हैं – 5 वर्ष की उम्र
• भाषा शिक्षण की प्रथम पाठशाला किसे कहा जाता है – घर को
• दूसरे वर्ष के अंत में शिशु का शब्द भंडार कितना होता है – 50 शब्द
• भाषा की सबसे छोटी इकाई है – स्वनिम
• “मैडम चाय खाती हैं” वाक्य कैसा है – वाक्य विन्यास की दृष्टि से सही है लेकिन अर्थ विन्यास की दृष्टि से गलत है
• थ,फ,च ध्वनियां है – स्वनिम
• सांस्कृतिक तथा भाषा के रूप में वैविध्य पूर्ण कक्षा में यह निश्चित करने से पहले की शिक्षार्थीयो विशिष्ट शिक्षा वर्ग में आता है या नहीं एक शिक्षक को अलग करना चाहिए – अक्षमता स्थापित करने से पहले शिक्षार्थी की मातृभाषा का मूल्यांकन करना
• जब बच्चे उन गतिविधियों में शामिल होते हैं जो….. होती हैं,तब वे जल्दी सीखते हैं – वास्तविक जीवन में उपयोगी

• संस्कृति पर शिक्षा का क्या प्रभाव पड़ता है – संस्कृति की निरंतरता को बनाए रखना
• एक बच्चा अपनी मातृभाषा सीख रहा है दूसरा बच्चा उसी भाषा को द्वितीय भाषा के रूप में सीख रहा है, दोनों निम्न में से किस प्रकार की त्रुटि कर सकते हैं – विकासात्मक
• भाषा अबवोधन से संबंधित विकार है – चलाघात
• भाषा विकास के संदर्भ में निम्न में से कौन सा क्षेत्र पियाजे के द्वारा कम आंका गया है – सामाजिक अंतः क्रिया
• भाषा विकास का सिद्धांत नहीं है – अतिरिक्त शक्ति का सिद्धांत
• रवि तर्क देता है कि भाषा विकास व्यक्ति की नैसर्गिक प्रवृत्ति से प्रभावित होता है जबकि सोनाली महसूस करती है कि यह परिवेश से प्रभावित होता है रवि और सोनाली के बीच यह चर्चा किस विषय मे है – प्रकृति तथा पालन पोषण पर वाद विवाद
• भारत में भाषिक विभिन्नता बहुत है, इस संदर्भ में विशेषकर कक्षा 1 व 2 के प्रारंभिक स्तर पर बहुभाषिक कक्षाओं के बारे में सही है – शिक्षक को सभी भाषाओं का सम्मान करना चाहिए, और सभी भाषाओं में अभिव्यक्ति के लिए बच्चों को प्रोत्साहित करना चाहिए
• क्या बच्चे भाषा अर्जित करते हैं, क्योंकि उनमें हिंसा करने की अनुवांशिक प्रवृत्ति होती हैं या उनके माता-पिता प्राथमिक स्तर पर उन्हें गहन रूप से सिखाते हैं,यह प्रश्न आवश्यक रूप से दर्शाता है – प्रकृति और पोषण पर बहस
• भाषा विकास के लिए प्रारंभिक बचपन काल है – अति संवेदनशील
• कक्षा एक में बच्चों में भाषा कौशल का विकास किस क्रम में होना चाहिए – सुनना ,बोलना ,पढ़ना ,लिखना
• राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 दस्तावेज में भाषा के लिए निहित है – 3 भाषाये
• भाषा विकास में सहयोग करने का तरीका है – बच्चों को बिना ठोके बोलने देना
• एक कक्षा में बहुभाषी विद्यार्थी हैं, यह स्थिति उत्पन्न करती है – सीखने के समृद्ध संसाधन

• बच्चों के भाषाई विकास के लिए जरूरी है – लिखना, पढ़ना, सुनना, व बोलने का अभ्यास करना चाहिए
• चिंतन मानसिक क्रिया का ज्ञानात्मक पहलू है यह परिभाषा किसने दी – रॉस
• चिंतन शक्ति के विकास की प्रक्रिया में – स्वतंत्रता का लचीलापन
• विद्यार्थियों के साथ संप्रेषण का क्या अर्थ है – विचारों का आदान-प्रदान करना
• सामाजिकरण क्या है – समाज के मानदंडों के साथ अनुकूलन
• सामाजिकरण के संदर्भ में विद्यालयों के पास प्रायः एक पाठ्यचर्या विद्यमान रहती है,  जिससे निहित है – अंतः क्रिया व सामग्री दौरा विद्यालयों में प्रस्तुत किए जाने वाली सामाजिक भूमिकाओं से संबंध अनौपचारिक संकेत
• निम्न में से सामाजिकरण की निष्क्रिय एजेंसी है – सार्वजनिक पुस्तकालय
• मनोसामाजिक सिद्धांत निम्नलिखित में से किस पर बल देता है – लिंगीय तथा प्रसूति स्तर
• सामाजिकरण एक प्रक्रिया है – घुलने मिलने तथा समायोजन की
• सामाजिकरण का एक अंग है – परिवार

• जनसंचार माध्यम सामाजिकरण का एक महत्वपूर्ण माध्यम बनता जा रहा है – जनसंचार माध्यमों की पहुंच बढ़ गई है, और जनसंचार माध्यम अभिवर्तियो मूल्य और विश्वासों को प्रभावित करता है।
• बच्चे के सामाजिकरण में परिवार भूमिका निभाता है – मुख्य
• सामाजिकरण के गौड़ कारक कौन से है – विद्यालय और निकटतम परिवार के सदस्य
• विकास के मनोसामाजिक सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया – एरिकसन
• शिक्षा के संदर्भ में सामाजिकरण से तात्पर्य है कि – सामाजिक वातावरण में अनुकूलन और समायोजन
• सबसे अधिक गहन और कठिन सामाजिकरण होता है – पूर्व बाल्यावस्था के दौरान
• एक शिक्षक विद्यार्थियों में सामाजिक मूल्यों को कैसे विकसित कर सकता है – अच्छी कहानियां सुनाकर
• सामाजिकरण वह प्रक्रिया है जिसमें बच्चे व वयस्क किसके माध्यम से सीखते हैं –  परिवार
• सामाजिकरण क्या है – समाज के मानदंडों के साथ अनुकूलन
• सामाजिकरण में सम्मिलित हैं, सांस्कृतिक संरचना और – व्यक्ति और व्यक्तित्व विकास

• प्रगतिशील शिक्षा के संदर्भ में कौन सा कथन जॉन डीवी के द्वारा दिया गया है – विद्यार्थियों को स्वयं ही सामाजिक समस्याओं को सुलझाने में सक्षम होना चाहिए
• सामाजिकरण के संदर्भ में विद्यालयों के पास प्रायः एक पाठ्यचर्या विद्यमान रहती है जिस में निहित है – अंतः क्रिया व सामग्री द्वारा विद्यालयों में प्रस्तुत किए जाने वाली सामाजिक भूमिका से संबंधित अनौपचारिक संकेत
• सामाजिकरण की प्रक्रिया में शामिल तत्व नहीं है – अनुवांशिक संचरण
• विद्यालय और सामाजिकरण के बारे में कौन सा कथन सही है – विद्यालय सामाजिकरण का महत्वपूर्ण कारक है
• कौन सी संस्था सामाजिक परंपराओं के हस्तांतरण में सबसे अधिक योगदान देती है – परिवार
• बुद्धि परीक्षण का निर्माण सबसे पहले किसने किया था – अल्फ्रेड बिने
• एक शिक्षक कक्षा के कार्य को एकत्रित करता है, और पड़ता है फिर योजना बनाता है और अपने अगले पार्ट को शिक्षार्थियों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए समायोजित करता है वह……… कर रहा है – सीखने के लिए आकलन
• कक्षा कक्ष में जेंडर विवेद – शिक्षार्थियों को हंसो उन्मुख प्रयासों अथवा निष्पादन का कारण बन सकता है।
• ध्वनि संबंधित जागरूकता किस क्षमता से संबंधित है – ध्वनि संचरण पर चिंतन करना व उसमे हेर-फेर करना
• प्रकृति पोषण का संबंध किससे है – अनुवांशिकी एवं वातावरण
• मानव का विकास संबंधित है – मात्रात्मक और गुणात्मक देना

• सामाजिकरण की निष्क्रिय एजेंसी है – सार्वजनिक पुस्तकालय
• संज्ञानात्मक विकास का संबंध किससे है – एक समृद्ध और विविधता पूर्ण वातावरण उपलब्ध करना
• सीखने की शैली का एकमात्र उदाहरण है – तथ्यात्मक
• स्मृति का दुर्तीय सोपान है – धारणा
• स्मृति के चार अंग कौन कौन से हैं – सीखना, धारण, पुनः स्मरण, पहचान
• प्रेरणा के चार स्त्रोत कौन-कौन से हैं – चालक, प्रेरक, उद्दीपक, आवश्यकताएं
• प्रेरणा का प्रमुख स्रोत है – भूख,चालक, प्रेरक
• छात्रों को प्रेरित करने के लिए किस विधि का प्रयोग किया जाता है – प्रशंसा करके
• भूख, प्यास, निद्रा, विश्वास और काम उदाहरण है – जन्मजात प्रेरक
• अर्जित प्रेरक है – रुचि और मनोवृति या
• प्रेरणा किसी कार्य को आरंभ करने उसे जारी रखने तथा नियमित करने की प्रक्रिया है यह परिभाषा किसने दी – गुड़ ने
• जन्मजात प्रेरकों का समूह है – काम ,भूख ,प्यास 

• प्रेरक कितने प्रकार के होते हैं – प्रेरक दो प्रकार के होते हैं सकारात्मक और नकारात्मक
• कौन सी संज्ञानात्मक क्रिया दी गई सूचना के विश्लेषण के लिये प्रयोग में लाई जाती है – अंतर करना
• यदि पूर्व प्राथमिक स्तर पर बच्चों को खोज करने की अनुमति दे दी जाए तो वे संतुष्ट हो जाते हैं जब उन्हें हतोत्साहित किया जाता है तो भी व्यक्ति हो जाते हैं वह ऐसा किस अभिप्रेरणा के कारण करते हैं – अपनी उपेक्षा को कम करना
• मानव बुद्धि एवं विकास की समझ शिक्षक को कितने योग्य बनाती है – विविध शिक्षार्थियों के शिक्षण के बारे में स्पष्टता

• बच्चे के विकास में आनुवंशिकता और वातावरण की भूमिका कितनी होती है – आनुवंशिकता और वातावरण दोनों ही बच्चे के विकास में 50 50% भूमिका निभाते हैं
• सामाजिकरण क्या है – समाज के मानदंडों के साथ अनुकूलन
• शिक्षार्थियों के ज्ञान अर्जन में सहायता करने के लिए अध्यापकों को किस पर ध्यान देना चाहिए – शिक्षार्थी को सक्रिय भागीदारी के लिए सहायता करना
• स्कूल की अध्यापिका ने ध्यान दिया कि पुष्पा किसी कार्य को अपने आप नहीं कर सकती है फिर भी वहां एक बेस्ट या साथी के मार्गदर्शन की उपस्थिति में ऐसा करती है इस मार्गदर्शन को कहते हैं – सहारा देना
दोस्तों आपको हमारा यह लेख कैसा लगा आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताएं और इसी तरह के आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी Website को फॉलो करें। हम आपके लिए एजुकेशन से जुड़ी नई-नई जानकारियां लाते रहेंगे।
Spread the love

Leave a Comment